Tuesday, 2 August 2011

सरस, सुन्दर, शुशील सजनी

सुन्दर मन से सुन्दर तन की
सुन्दरता की करू सहाय..♥♥..
सुन्दरी इतनी सुन्दर लगती..
सारी सुन्दरता तुझमे समाय

सुन्दर सुन्दर लगती सुन्दर..♥..
सुन्दरी तुमसे सुन्दर ना कोई..
सुन्दर जग मे सुन्दरी पाकर.♥
सुन्दर अपना भाग्य जो होय..!


सुन्दर सुन्दर मन के अन्दर,
सुन्दर सुन्दर सपना संजोय.♥
सुन्दर जीवन सुन्दरी के संग.
सुन्दर सुन्दर पल बिताय♥♥

"सुन्दर सुन्दर लगती सुन्दर..
सुन्दरी तुमसे सुन्दर ना कोई.!
सुन्दरी इतना सुन्दर लगती.♥.
सारी सुन्दरता तुझमे समाय"

सर्वाधिकार सुरक्षित © विनोद जेठुडी, 10 फ़रवरी 2011 @ 7:10